मुख्य पृष्ठ » परिचय
परिचय

श्री नैना देवी जी मंदिर राष्ट्रीय राजमार्ग २१ और बिलासपुर से ७० किलोमीटर, चंडीगढ़ से १०८किलोमीटर भाखड़ा से १८ किलोमीटर, और आनंदपुर साहिब से २० किमी दूर पर है| यह त्रिकोंनीय धार जिसे नैना धार के रूप में जाना जाता है जो समुद्र तल से ३५३५ फीट की ऊंचाई पर पर स्थित है|

श्री नैना देवी जी मंदिर दोनों हिंदू और सिख तीर्थयात्रियों का सबसे बड़े दर्शन केंद्र के रूप में उभरा है|

भाखड़ा बांध, आनंदपुर साहिब, और गोविंद सागर झील के प्रसिद्ध भूमि निशान से घिरा हुआ है|

यह हिन्दुओं के प्रसिद्ध 51 शक्ति पीठों में से एक है जिसका भगवान शिव और गुरु गोविंद सिंह के साथ पौराणिक संबंध है|